यश कुमार की ‘बिटिया छठी माई के’ मुंबई में शानदर ओपनिंग

यूनिक एक्‍शन स्‍टार यश कुमार की भोजपुरी फिल्‍म ‘बिटिया, छठी माई के’ आज मुंबई में बड़े पैमाने पर रिलीज हो गई। इससे पहले यह फिल्‍म बिहार और झारखंड में चैती छठ के अवसर पर रिलीज हो चुकी है। उसके बाद जब आज ‘बिटिया, छठी माई के’ मुंबई में रिलीज हुई, तो बॉक्‍स ऑफिस पर सारे शोज हाउसफुल हो गए। ट्रेड पंडितों की मानें तो ‘बिटिया, छठी माई के’ यश कुमार की बेहतरीन फिल्‍मों में से एक है और इसकी कहानी बिहार के महापर्व छठ पूजा पर आधारित है। इसलिए भी दर्शकों में फिल्‍म को लेकर काफी उत्‍सुकता है। यह बिहार और झारखंड में भी देखने को मिला था। अब मुंबई में लोगों को यह फिल्‍म पसंद आ रही है।

वहीं, सिनेमाघरों से बाहर आ रहे दर्शकों ने माना कि यह भोजपुरी की अब तक सबसे धार्मिक फिल्‍म है। इसकी कहानी से लेकर अभिनय तक सभी बेस्‍ट हैं। यश कुमार की भूमिका दिल को छू लेनी वाली है। फिल्‍म सुपर हिट है और दर्शकों को कम से कम एक बार यह फिल्‍म जरूर देखनी चाहिए। आपको बता दें कि फिल्‍म में यश कुमार और अंजना सिंह का किरदार दर्शकों को खूब पसंद आ रहा है। फिल्‍म के निर्देशक सुजीत वर्मा हैं।

‘बिटिया, छठी माई के’ भोजपुरी सिनेमा के अन्य कमर्शियल फ़िल्मों से पूरी तरह से अलग है। अश्लीलता मुक्त,पारिवारिक फिल्‍म की कहानी महिला सशक्तिकरण और बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ की मुहीम को आगे बढ़ाने वाली इस फिल्‍म में यश कुमार एक ऐसे पिता का किरदार निभा रहे हैं, जिसका काफी सीधा-साधा गांव का एक निर्धन है। मगर उसकी ख्‍वाहिश एक बेटी की होती है और वह इसके लिए छठ मईया से मन्‍नत मांगता है। उसे बेटी मिलती भी है,वह उसकी प‍रवरिश कैसे करता है और फिर जब बच्‍ची बड़ी हो जाती है, तब उसे किन – किन कठनाईयों का समाना करना पड़ता है।

यश कुमार के पीआरओ संजय भूषण पटियाला ने बताया कि ‘बिटिया, छठी माई के’ बिहार – यूपी और झारखंड से जुड़े लोगों को तो पसंद आयेगी ही, साथ ही अन्‍य लोगों को भी फिल्‍म में खूब मजा आयेगा। साथ ही महापर्व छठ की पवित्रता से दर्शक खुद को जोड़ पायेंगे।