दर्शकों के प्यार से मिलती है शक्ति – शुभी शर्मा

भोजपुरी फिल्मों की ड्रीम गर्ल कही जाने वाली शुभी शर्मा इन दिनों अपनी दो फिल्मों दुल्हन चाही पाकिस्तान से और राम लखन को लेकर काफी उत्साहित हैं। दुल्हन चाही पाकिस्तान से जहां ईद पर रिलीज़ हो रही है वहीँ राम लखन रक्षा बंधन पर रिलीज़ हो रही है। अपने अभिनय , नृत्य से भोजपुरी फिल्म जगत में अलाप पहचान बना चुकी शुभी से विस्तृत बातचीत हुई। प्रस्तुत हैं कुछ अंश –

अपनी दोनों की बहुचर्चित फिल्म के बारे में बताइए।
“दुल्हन चाही पाकिस्तान से” मोहब्बत की सच्ची दास्ताँ है। अपनी मोहब्बत को पाने के लिए धर्म , आतंक की दीवार को तोड़ कर एक प्रेमी किस तरह अपनी मोहब्बत का दीदार करता है यही इसका सार है। फिल्म आतंक पर भी एक तमाचा है। राम लखन इसके विपरीत निरहुआ इंटरटेनमेंट स्टाइल की विशुद्ध पारिवारिक फिल्म है जिसे महिलाएं बहुत पसंद करेंगी क्योंकि यह उन्हें अपने घर की कहानी लगेगी। मैंने डबिंग के दौरान फिल्म के कई सीन देखें हैं जिन्हे देखकर मैं कह सकती हूँ की राम लखन हर वर्ग के दर्शकों को पसंद आएगी।

अगर दोनों ही फिल्मों की तुलना की जाए तो आपकी पसंदीदा फिल्म कौन सी है ?

एक कलाकार होने के नाते उनके द्वारा अभिनय की गयी सारी फिल्मों से उन्हें प्यार होता है। दोनों ही फिल्मों के निर्देशक भोजपुरी फिल्म जगत में बड़े नाम वाले हैं और दोनों ही फिल्मों का अंदाज़ इसीलिए दोनों की तुलना एक दूसरे से नहीं की जा सकती। पर इतना ज़रूर कहूँगी की दोनों ही फिल्में दर्शकों को दीवाना बना देंगी।

आपकी आने वाली अन्य फिल्में ?

इन दोनों फिल्मों के अलावा निर्देशक सनोज मिश्रा की धर्म के सौदागर और राजपूत फिल्म फैक्ट्री की तीन बुड़बक सहित कुछ और फिल्में भी है। धर्म के सौदागर में जहां मैं पहली बार मुस्लिम किरदार में नज़र आउंगी वहीँ तीन बुड़बक में कुछ अलग ही अंदाज़ आपको नज़र आयेगा।

अपने दर्शकों के लिए कोई सन्देश देना चाहेंगी?

अपने सभी दर्शकों को दिल से धन्यवाद देना चाहूंगी, जिन्होंने मुझे इतना प्यार दिया। मैं आज जो भी हूँ अपने दर्शकों के प्यार के वजह से। सच कहें तो दर्शकों के प्यार से ही शक्ति मिलती है। मुझे गर्व है की मैं गैर भोजपुरिया होकर भी भोजपुरिया दर्शकों का बहुत प्यार पा रही हूँ । दर्शकों से एक ही बात कहूँगी जिंदगी में हमेशा खुश रहे, प्यार बाटते रहे और आगे भी अपना प्यार और आशीर्वाद बनाए रखे ।