Shalendra Singh ने Relience Entertainment के साथ मिलाया हाथ रणादायी बायोपिक्स बनाने के लिए

अपने तीन दशक लंबे करियर के दौरान 70 से अधिक फीचर फिल्मों को प्रोड्यूस कर चुके निर्माता शैलेन्द्र सिंह नए साल की धमाकेदार शुरुआत कर रहे हैं। रिलायंस एंटरटेनमेंट के साथ मिलकर इस साल वे दो पावरफुल बायोपिक्स को प्रोड्यूस करने के लिए तैयार हैं। जिनमें से एक ‘एम.एस. बिट्टा: हिट-लिस्ट’ को शैलेंद्र, प्रिया गुप्ता के साथ मिलकर प्रोड्यूस करेंगे वहीं दूसरी फिल्म डांस ट्रूप किंग्स यूनाइटेड की प्रेरणादायक कहानी है, जिसने हाल ही में अमेरिकी रियलिटी शो वर्ल्ड ऑफ डांस में 1 मिलियन अमरीकी डॉलर जीता था।

सिंह को दर्शकों के दिलो-दिमाग को पढ़ने की उनकी गहरी समझ के लिए जाना जाता है। इन दो प्रोजेक्ट्स को हाथ में लेना उनकी समझ की ही बानगी है कि फिलहाल बाजार और दर्शकों की पसंद या मांग क्या है। बायोपिक्स के क्षेत्र में हाथ आजमाते हुए वे मनोरंजन उद्योग के सबसे मजबूत खिलाड़ियों में शामिल रिलायंस एंटरटेनमेंट के साथ एक ट्रेंडिंग मार्केट की तलाश में हैं।

एम. एस. बिट्टा की बायोपिक एक ऐसे व्यक्ति की दिलेरी, साहस और स्ट्रेंथ की कहानी है जिसकी 1990 के दशक के मध्य में कई बार हत्या की कोशिश हुई। बिट्टा अभी अखिल भारतीय आतंकवाद विरोधी मोर्चा(ऑल इंडिया एंटी टेररिस्ट फ्रंट) के प्रमुख हैं। इस बारे में बताते हुए आदरणीय एम.एस. बिट्टा कहते हैं, “मैंने अपना पूरा जीवन आतंकवाद के खिलाफ लड़ने में समर्पित कर दिया है। मुझे दुनिया के किसी बम से डर नहीं लगता। मुझे सिर्फ ‘राजनीतिक आतंकवाद’ से डर लगता है। यह मेरे लिए बहुत सम्मान की बात है कि शैलेंद्र सिंह, प्रिया गुप्ता और रिलायंस एंटरटेनमेंट मेरी कहानी को दुनिया के सामने लाने के लिए एक साथ आए हैं।

सिंह की दूसरी फिल्म उस वक्त खबरों में आई जब उन्होंने किंग्स यूनाइटेड की कहानी के अधिकार हासिल किए। द किंग्स शीर्षक से बनने वाली यह फिल्म बीस युवा स्ट्रगलर्स और उनकी गली से ग्लोरी, नालासोपरा से लॉस एंजिल्स तक के सफर की प्रेरणादायक कहानी है। किंग्स यूनाइटेड के संस्थापक सुरेश मुकुंद कहते हैं, “हमारी यात्रा ट्रायल्स, तकलीफों, जीत और शोहरत से भरपूर रही है। लेकिन हमारा एक सपना था और सिर्फ एक चीज जो हम करना जानते थे, वह था उस सपने के पीछे भागना। हमारा मानना है कि शैलेंद्र सिंह वास्तव में हमारी कहानी को समझते हैं और इसको फिल्म में दिखा सकते हैं। अब जब रिलायंस एंटरटेनमेंट उनके साथ आ गया है तो हम उनके साथ इस नए सफर को शुरू करने को लेकर और ज्यादा उत्साहित हैं। ”

शैलेन्द्र सिंह कहते हैं, “मैं सच्ची घटनाओं पर बायोपिक्स और फिल्में बनाना चाहता हूँ जो इंडिया को सेलीब्रेट करे, ब्रांड इंडिया का निर्माण करे और दुनिया की सबसे युवा आबादी (यंग इंडिया) को प्रेरित करे। एमएस बिट्टा और किंग्स यूनाइटेड के जीवन पर आधारित बायोपिक्स सिर्फ वे चिंगारियां हैं जिनका मुझे बेसब्री से इंतजार था जिससे बॉलीवुड में एक नई मशाल रोशन हो सके। 70 अनूठी फिल्मों की समृद्ध विरासत के साथ क्रिएटिव प्रोड्यूसर के तौर युवा भारत के लिए फिल्में बनाना फिल्म मेकिंग के क्षेत्र में मेरी नई पारी है। ”

शैलेंद्र सिंह को एकमात्र ऐसे फिल्म निर्माता होने का श्रेय है, जिसने 300 डेब्यूटेंट्स(नए कलाकार) को लेकर एक फिल्म बनाई जो बड़ी हिट रही। प्यार में कभी कभी नाम से बनी इस फिल्म से संजय सूरी, रिंकी खन्ना (डिंपल कपाड़िया की बेटी) और डिनो मोरिया सहित कई लोकप्रिय कलाकारों ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की। बॉलीवुड में स्थापित होने के साथ ही सिंह को बिजनेस सूट में एक रचनात्मक प्रतिभा के तौर पर जाना जाता है, जिन्होंने म्यूजिक एंट्रेप्रेन्योरशिप से लेकर खेल प्रबंधन तक इंडस्ट्रीज तब बनाया जब वे मौजूद नहीं थीं। शैलेंद्र सिंह का नया वेंचर सिर्फ मनोरंजन क्षेत्र के मापदंड को ऊंचा उठा रहा है।