सेंसर ने दिखाई हरी झंडी रंजन सिंह की फिल्म आर्मी की जंग को

फ़िल्म के कमाई को सेना राहत कोष मे दिया जाएगा दान

युवा सोच ही भोजीवूड़ को भी बदल सकता है ये मानना है 28 वर्षीय युवा निर्देशक रंजन शर्मा का। रंजन की कई फ़िल्में रिलीज़ हो चुकी हैं और क़ुछ निर्माणाधीन है। इसी क्रम में इस युवा निर्देशक की एक और भोजपुरी फिल्म “आर्मी की जंग ” को सेंसर ने मंजूरी दे दी है। उम्मीद है यह फ़िल्म 15 अगस्त को रिलीज हो सकती है। फ़िल्म को ले कर उत्साहित रंजन शर्मा बताते हैं कि हमारी फिल्म “आर्मी की जंग” को UA सर्टिफिकेट मिला है। फ़िल्म के सभी सीन्स को बोर्ड ने उम्दा बताया ये सब फ़िल्म के पुरी टीम के मेहनत का फल है। स्पोट बाय से ले कर निर्माता तक से योगदान से ही ये फ़िल्म बन पायी है।

पटकथा को लेकर रंजन आगे कहते हैं कि यह फिल्म देश के सैनिकों के जीवनी पर फिल्म है, जो दर्शकों में उत्साह व सैनिकों के प्रति आदर का संचार करेगी। फिल्म की मुख्य भूमिका में अरुण ओझा, गायक व नायक नागेन्द्र उजाला, गायक व नायक मोहन सिंह, सोनम तिवारी और कनक पांडेय व पीआरओ सर्वेश कश्‍यप हैं। निर्माता अरुण ओझा कहते हैं कि हमारी फिल्म “आर्मी की जंग” एक बेहतरीन विषय पर बनी हुई फिल्म है। यह फ़िल्म देश के जवानों को समर्पित है, जो सरहद पर खड़े होकर हमारी रक्षा करते हैं। इन जवानो से प्रेरित हो कर हम अधिकारिक घोषणा करते हैं की इस फ़िल्म से कमाई को भारतीय सेना राहत कोष में देंगे।

फिल्म का निर्माण ABS फिल्म्स के बैनर तले हुआ है, जिसके निर्माता अरुण ओझा व सह निर्माता श्री सुधाकर कुमार है। इस फिल्म को बेहद अच्छे तरीके से निर्देशित किया है रंजन शर्मा ने । फ़िल्म में पटकथा व संवाद नन्हे पांडेय का व संगीत ओम झा का है।