मेरी फिल्म परिवार का हर सदस्य एक साथ देख सकता है – रवि कश्यप

हमेशा अपनी फिल्मो में कुछ नयापन दिखाते है निर्देशक रवि कश्यप ,यही वजह है की दर्शक उनकी फिल्मो को बहुत पसंद करते है .इन दिनों उनकी फिल्म ‘भौजी आई हमार अंगना ‘ काफी चर्चा में है .रवि कश्यप से उनकी आनेवाली इस फिल्म और अन्य फिल्मो के बारे में किये गए बातचीत के कुछ अंश:

रवि जी आपकी फिल्म बनकर तैयार है ,कब तक रिलीज़ कर रहे है ?

मेरी फिल्म ‘भौजी आई हमार अंगना ‘ बनकर तैयार है और मई में यह फिल्म दर्शको के मनोरंजन के लिए सभी जगह प्रदर्शित की जाएगी.

आप अपनी फिल्मो में हमेशा कुछ नयापन दिखाते है ,इस फिल्म में ऐसा क्या नया दिखा रहे है आप ?

मैंने यह फिल्म उन दर्शको को ध्यान में रखकर बनाया है जो घर में बैठे सोचते तो है की फिल्म देखे पर देखने जा नहीं पाते क्योंकि आज-कल की फिल्मो में अश्लीलता इतनी होती है .मेरी फिल्म ऐसी बनी है जिसे पूरा परिवार एक साथ बैठकर देख सकता .एक साधारण सा उदाहरण दूँ तो यह फिल्म आज के ज़माने की -नदिया के पार’ फिल्म जैसी है.

रवि जी अब तक आपकी कितनी भोजपुरी फिल्मे आ चुकी है ?

मेरी फिल्म बी.ऐ .पास बहुरिया ,राजाजी ,प्रदर्शित हो चुकी है इसके अलावा ‘भौजी आई हमार अंगना ‘, लागी तोहसे लगन’ जो मई मई ही प्रदर्शित होगी ,एक और फिल्म है जिसका नाम है ‘जहरीला ‘ जिसके प्री-प्रोडक्शन का काम चल रहा है .

आनेवाली फिल्मो में स्टार कास्ट किसे ले रहे है ?

एक फिल्म में यश मिश्रा और दूसरे में खेसारी लाल यादव को लेकर बात चल रही है.

जिस तरह आज कल भोजपुरी फिल्मो का मार्केट एकदम ठप्प हो गया है , आपको नहीं लगता की फिल्मे बनाना बंद कर देनी चाहिए ?

जी नहीं मार्केट ख़राब नहीं हुआ है दरअशल फिल्मो को बनाने का सिस्टम सही नहीं है जिसके चलते निर्माताओ को फिल्म बनाने के बाद भारी नुकशान उठाना पड़ता है.दर्शक तो फिल्मे देखते है लेकिन निर्माताओ तक सही तरह से पैसे नहीं पहुँचते .

कई बार ऐसा होता है की लोगो को पता ही नहीं होता की कौन सी फिल्म उनके यहाँ प्रदर्शित हुई है?

यह बिलकुल सही बात है ,फिल्म बनाना जितना जरुरी होता है उतना ही फिल्म का प्रमोशन करना भी जरुरी होता है ताकि लोग जान पाये की कौन सी फिल्म कब प्रदर्शित हो रही है.

आपकी फिल्म भी आ रही है ,आपने क्या योजनाये बनाई है पब्लिसिटी के लिए?

जी हमने बहुत सी योजनाये बनाई है जिसमे सबसे मह्हत्वपूर्ण यह होगा की हम हर घर-घर जाकर लोगो के बीच हमारी फिल्म का प्रमोशन करेंगे . क्योंकि हर किसीको फिल्म की जानकारी जरूर होनी चाहिए.

फिल्म पब्लिसिटी में सोशल नेटवर्किंग साइट्स कितनी सफल शाबित होती है?

आज कल के बहुत से लोग सोशल नेटवर्किंग साइट से जुड़े हुए है और सोशल नेटवर्किंग साइट पर पब्लिसिटी करना इन दिनों बहुत ही आम बात है और यह जरुरी है .

इस बार अपनी फिल्मो में किस तरह के गाने ला रहे है ?

मेरे हर फिल्म का गाना हमेशा सुनने जैसा होता है काफी सुरीले गाने होते जिनमे बिलकुल भी द्विअर्थी शब्द का प्रयोग नहीं होता.

आपकी फिल्म के कलाकार और बाकि टीम का काम कैसा था?

मेरी फिल्म के दोनों हीरो विक्रांत सिंह और रवि त्रिपाठी इन दोनों ने बहुत अच्छा काम किया है बाकि फिल्म के सभी कास्ट और क्रू मेम्बरों ने फिल्म के शूटिंग के दौरान काफी मेहनत की है .

इस फिल्म के दोनों हीरो के किरदार के बारे में कुछ बताइये ?

इस फिल्म में विक्रांत और रवि दोनों भाई है ,विक्रांत छोटा भाई है और रवि बड़ा भाई.विक्रांत अपने भाई के लिए जिस लड़की को अपनी भाभी बनाना चाहता है और क्या वह उसकी भाभी बन जाती है इसी पर है यह फिल्म ‘भौजी आई हमार अंगना ‘.

जिस तरह आज कल के एल्बम और फिल्मो में भाभी और देवर के बीच के रिश्ते को दर्शया जाता है ऐसा कुछ है आपकी फिल्म में ?

जी बिलकुल भी नहीं मैं इस बात से बहुत निराश होता हूँ की भाभी और देवर के रिश्ते को हमेशा पवित्र माना जाता है पर कुछ लोग सिर्फ अपने फायदे के लिए ऐसे एल्बम का निर्माण करते है जिसमे देवर -भाभी जैसे पवित्र रिश्ते को बदनाम किया जाता है जो बिलकुल ही गलत है.

भोजपुरी भाषा को आठवी अनुसूची में लाने की बात काफी समय से चल रही है इस बारे में आपकी क्या राय है?

बड़ी दुःख की बात है की पिछले काफी समय से इस बात पर चर्चा की जा रही है ,पर उसका कोई निर्णय अभी नहीं निकल पाया है लेकिन भोजपुरी भाषा को आठवी अनुसूची की श्रेणी में शामिल होना ही चाहिए .

आपकी फिल्म में बाकि कलाकार कौन है और फिल्म का संगीत किसने दिया है?

‘भौजी आई हमारा अंगना ‘ इस फिल्म में विक्रांत सिंह,अंजना मिश्रा ,रवि त्रिपाठी, कोमल ढिल्लो ,पुष्पा वर्मा ,सुनील झा,ललितेश झा और भी कई कलाकार है .जहा तक गीत-संगीत की बात है तो बहुत ही दुखी मन से कहना पड़ रहा है की इस फिल्म में इतने अच्छे गाने देने वाले सुजीत चौबे जी हमारे बीच नहीं है .यह फिल्म उनकी श्रद्धांजिली में उन्हें समर्पित कर रहे है.