खेंसारी लाल यादव की ”आतंकवादी” और ”बाबरी मस्ज़िद”

वैश्विक स्तर पर फ़ैले आतंकवाद जैसे गंभीर मुद्दे पर हर भाषा में बहुतेरी फ़िल्में बन चुकी हैं , हर का मुद्दा और दिखाने का अपना तरीका होता है । उसी आतंकवाद से हमारा देश दशकों से जूझ रहा है जिसका केंद्र बिंदु हर बार पाकिस्तान ही होता है । उसी को मद्देनजर रखते हुए अब भोजपुरी जगत में भी लोग जागरूक होते हुए अपनी भागीदारी दिखा रहे हैं । आज इस आतंकवाद से हमारे देश की विकास गति भी बाधित हुई है जिसका निदान कहीं ना कहीं आतंकवाद के अंत से ही संभव है । देश की युवापीढ़ी के उज्जवल भविष्य को बर्बाद करता आतंकवाद आज एक गंभीर चिंता का सबब बन गया है ।
भोजपुरी फिल्मो के सुपर स्टार खेसारी लाल यादव की भोजपरी फिल्म ‘आतंकवादी’ और ”बाबरी मस्जिद” होली पर रिलीज होने जा रही हैं। वहीँ रिलीज से पहले ही दोनों फिल्मो की चर्चा फिल्म जगत में बहुत ज्यादा हो रही है । क्योंकि इन दोनों ही फिल्मों में अभिनेता खेंसारी लाल यादव मुख्य भूमिका में हैं । कभी अपनी पारिवारिक ज़िन्दगी को चलाने के लिए कड़ा संघर्ष करने वाले खेंसारी लाल यादव आज भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में सुपरस्टार की हैसियत रखते हैं । फिल्मों में आने से पहले खेसारी परिवार का खर्चा चलाने के लिए दिल्ली में लिट्‌टी का दुकान चलाने से लेकर भैंस चराने का काम किया करते थे। उन्ही दिनों का संघर्ष आज उनको सफलता की बुलंदियों पर ला खड़ा किया है ।

बिहार के छपरा के रहने वाले खेसारी फिल्मों में काम करने से पहले भोजपुरी एल्बम के लिए गाना गाते थे। बहुत सारे गाने गाए लेकिन सफलता नहीं मिली और सब फ्लॉप हो गए। लेकिन उन्ही संघर्ष के दिनों में एक गाने ने खेसारी को रातों रात फेमस कर दिया। 2008 में खेसारी लाल का गाना’ ”भौजी केकरा से लड़ब पिया अरब गईले ना’ हिट हो गया। इस गाने की लगभग 70-80 लाख सीडी की बिक्री हुई थी। जो की अपनेआप में भोजपुरी गानों के इतिहास में एक रिकॉर्ड है ।

इंटरव्यू के दौरान खेसारी लाल यादव ने बताया कि अपने परिवार का खर्चा चलाने के लिए दिल्ली में सुबह शाम लिट्टी की दूकान लगाने के अलावा धागा की कटाई करता था। जिसके बाद उनके घरवालों ने शादी कर दी। पारिवारिक खर्चा चलाने के लिए दिल्ली के ओखला के संजय कॉलोनी में ही रहकर वे परिवार के गुजारे के लिए जिंदगी से संघर्ष करने लगे , उन्हें इस काम में उनकी पत्नी भी सहयोग करती थी। ये संघर्ष का सिलसिला लगभग ढाई सालों तक चला।
खेसारी ने बताया कि इस संघर्ष के दौरान वे सरकारी नौकरी के लिए भी प्रयासरत थे जिसमें सफ़लता भी मिली और उसी दौरान बीएसएफ में नौकरी लग गई। लेकिन एक कलाकार का मन कभी भी मन नौकरी में नहीं लगता था। कुछ ही दिन की नौकरी छोड़कर फिर वापस दिल्ली आ गया। कुछ दिन वैसी ही संघर्षपूर्ण जिंदगी गुजारने के बाद पैसे बचाकर फिर एलबम निकाला उसी में एक गाना हिट हो गया तो खेसारी को लोग धीरे धीरे जानने लगे।

(१ ) गांव में आप का बचपन कैसा रहा है !

खेसारी ने बताया कि उनका बचपन गाँव में बिता है। इस दौरान गांव पर जीविकोपार्जन के लिए घर में कई भैंस रहती थी। जिसको चराने के लिए रोज गाँव से दूर लगभग 2 से 3 किलोमीटर ले जाता था । उस काम में मन नहीं लगा और फिर पिताजी के साथ दिल्ली आ गए। दिल्ली में आने के बाद शुरुआत में चना बेचने का काम करते थे।

(२) पहली फिल्म के लिए कैसे मिली !

खेसारी ने बताया कि एल्बम हिट होने के बाद उनको फिल्मों के ऑफर आने लगे लेकिन सबको दरकिनार करते हुए बड़े निर्माता आलोक कुमार के साथ फिल्म साजन चले ससुराल शुरू की । और शायद किस्मत को यही मंजूर था की पहली ही फिल्म ‘साजन चले ससुराल’ सिल्वर जुबली हुई। इसके बाद कई फिल्मों का ऑफर मिलने लगा। और फिर उसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा ।

(३) अबतक आप ने कितने फिल्मो में काम किया है ?

वैसे तो बहुतेरे ! लेकिन हाँ अबतक 50 से अधिक फिल्मों में काम कर चुका हूं , जिसमें से पांच फिल्में लगातार सिल्वर जुबली रही। बंधन,लाडला,होगी प्यार की जीत, आदि फिल्मे भी अच्छा व्यवसाय की ।

(४) भोजपुरी फिल्म फिल्म ‘आतंकवादी’ के बारे में क्या कहना है ?

फिल्म ‘आतंकवादी’ के निर्माता प्रेम राय और निर्देशक ऍम आई राज है यह आतंक पर आधारित फिल्म है ! सोसल मुद्दा है ,समाज में सताया हुआ इंसान एक दीन गलत ट्रैक पर चला जाता है और वह एक खूंखार आतंकवादि बन जाता है देश के लिए ! हमारे साथ शुभी शर्मा इस फिल्म की हीरोइन है और बॉलीवुड फिल्मो के खलनायक रणजीत और भोजपुरी फिल्मो के अवधेश मिश्रा है ! यह फिल्म होली पर रिलीज़ होने जा रही है । विषय को देखते हुए फिल्म बहुत अच्छी बन गयी है आप लोग जरूर देखे !

(5) भोजपुरी फिल्म ‘बाबरी मस्जिद ‘ के बारे में क्या कहना है ?

निर्देशक देव पांडेय की फिल्म ‘बाबरी मस्जिद ‘ एक बहुत ही अच्छी रोमांटिक फिल्म है ! इस फिल्म की पूरी शूटिंग उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और इटावा शहर में किया गया है ! फिल्म हिन्दू मुस्लिम के प्यार के ऊपर बनी है ! इस फिल्म के सभी गाने एक से बढ़ कर एक है ! इस फिल्म में हमारी हीरोइन काजल राघवानी है और साथ में अवधेश मिश्र,संजय पांडेय ,तृषा खान ,के के गोस्वामी ,ऋतू पांडेय आदि लोग है !

(6) आपकी आने वाली फिल्मे कौन कौन सी है ?

मैं आज कल निर्देशक लाल बाबु पंडित की फिल्म ” जिला चंपारण” की शूटिंग कोल्कता में कर रहा हूँ इस के बाद निर्देशक शेखर शर्मा की फिल्म ”मुकद्दर” की शूटिंग २१ फ़रवरी से मुम्बई में करने जा रहा हूँ ! निर्देशक अशलम शेख की फिल्म ”दूल्हा गंगा पार” की शूटिंग २० मार्च से मुम्बई में करूँगा ! उस के बाद निर्देशक पराग पाटिल,संजय श्रीवास्तव ,प्रेमांशु सिंह,रजनीश मिश्रा,और फिरोज खान की फिल्मे करूँगा !

भोजपुरी चटपटी न्यूज़ अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज पर लाईक करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.