खेसारी लाल यादव बने गरीबों के मसीहा

फिल्मी पर्दे पर तो हर कोई हीरो बन जाता है, लेकिन जो असल जिंदगी में हीरो जैसा काम करे और उसे देखकर ओरों की जुबान से निकले वाह वाह क्या बात है, तभी तो कहा गया है खुद के लिए जिए तो क्या खाक जिए, औरों के लिए जिए तो वहीं सच्चा इंसान है। ऐसी ही एक मिसाल भोजपुरी के सुपरस्टार खेसारी लाल यादव ने पेश की है, खेसारी ने अपनी आगामी फिल्म नागदेव की रिलीज से ठीक पहले छपरा एकमा थाना क्षेत्र के तिलकार गांव के दलित बस्ती के 45 घरों को गोद लिया।

खेसारीलाल यादव दलितों के मसीहा बनकर उभरे हैं। आपको बता दें कि खेसारी ने इन घरों को गोद क्यों लिया है। इस कारण है दीवाली की चिंगारी, जीहां दोस्तों दीवाली के पटाखों ने छपरा एकमा थाना क्षेत्र के तिलकार गांव के दलित बस्ती के 45 घरों को अपनी चपेट में लिया था, जिसके कारण इन सभी घरों के लोगों बेघर हो गए थे, जब खेसारी को इस बात की जानकारी हुई तो उन्होंने तुरंत ही इन परिवारों को गोद लेने का फैसला किया और आज उन्होंने इन सभी घरों को गोद ले लिया है। ऐसा नहीं है कि खेसारी पहली बार ऐसा कोई काम कर रहे हैं इससे पहले भी खेसारी लोगों की मदद के लिए आगे आ चुके हैं। खेसारी की तिलिस्मी अवतार से परिपूर्ण भोजपुरी फिल्म नागदेव में वीएफएक्स के प्रयोग की काफी तारीफ की जा रही है। फिल्म के निर्माता व निर्देशक के इस अनोखे फिल्म मेकिंग की हर कोई दांद दे रहा है। फिल्म का ट्रेलर इंटर10 म्यूजिक कंपनी के ऑफिसियल यूट्यूब द्वारा लांच किया गया है।

यश एंड राज एंटरटेनमेंट एवं खेसारी एंटरटेनमेंट प्रस्तुत, नीलाभ तिवारी फिल्म्स व रम्भा इंटरटेनमेंट की फ़िल्म नागदेव का हर एक दृश्य सिनेप्रेमियों को दाँतों तले उंगली दबाने पर मजबूर कर दे रहा है। इस फ़िल्म में खेसारी लाल यादव और काजल राघवानी की रोमांटिक जोड़ी अनोखे अंदाज में अवतरित हुए हैं। फ़िल्म के निर्माता नीलाभ तिवारी, रामकरन गौड़ व रमेश सिंह हैं। निर्देशक देव पांडेय हैं। फ़िल्म में वीएफएक्स एडी स्टूडियो का है तथा वीएफएक्स सुपर वाइजर चीकू साहू हैं। मुख्य कलाकार खेसारीलाल यादव, काजल राघवानी, अवधेश मिश्रा, देव सिंह, प्रिया शर्मा, संजय महानंद, समर्थ चतुर्वेदी सहित कई कलाकार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.