India का प्रतिनिधित्व करेंगे एशले लोबो Global Choreographer के बीच New York के FlashinghTown Hall

एशले लोबो ऐसे कोरियोग्राफर हैं जो अपने दायरे का विस्तार करने और अपनी विधा में शीर्ष पर रहने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ते। एक बार फिर से विश्व स्तर पर अपनी योग्यता को साबित करते हुए, अब उन्हें एक पीस को प्रस्तुत करने के लिए पांच अंतर्राष्ट्रीय कोरियोग्राफरों के बीच चुना गया है जो न्यूयॉर्क के प्रसिद्ध फ्लशिंग टाउन हॉल में प्रीमियर करेंगे। डांस एन्ट्रॉपी के आर्टिस्टिक डायरेक्टर जाने-माने वैलेरी ग्रीन के साथ अपने जुड़ाव की घोषणा करते हुए 16 फरवरी, 2020 को वे होम (HOME) के अपने वर्जन को पेश करने के लिए अपने डांसर्स को प्रशिक्षित करेंगे। वे स्वीडन, कोलंबिया, लेबनान और युगांडा के कोरियोग्राफरों के साथ, इंटरनेशनल डांसर्स के 15 मिनट के डांस पीस के साथ भारत के अपने वर्जन को प्रस्तुत करेंगे। ऐसे माहौल में जहां पहले से कहीं अधिक विभाजन है, प्रोजेक्ट ‘होम’ विभिन्न समुदायों के बीच जुड़ाव की भावना तथा सीमाओं और संस्कृतियों के मध्य साझा समझ का निर्माण करने में मददगार साबित होगी।

अपने होम की परिभाषा बताते हुए वे कहते हैं, “मेरे लिए होम भारत है। भारत भ्रम का पुलिंदा है, लेकिन उस भ्रम के भीतर एक अजीब क्रम है जो इसे फलता-फूलता रहता है। प्रकृति का कोई महान आदेश नहीं है, पेड़ जैसे चाहते वैसे बढ़ते हैं। नदियाँ बिना किसी क्रम के प्रवाहित होती हैं, लेकिन जीवन के जैविक विकास में समकालिकता होती है.. यहां तक कि किसी व्यक्ति के विकास(ग्रोथ) में भी। ”

एशले लोबो भारत में इंटरनेशनल बैले और समकालीन डांस की अगुवाई कर रहे हैं और ‘होम’ का उनका वर्जन इस तथ्य से उपजा है कि ‘यदि आप खुद के साथ हैं, तो आप जहाँ कहीं भी हैं आप घर पर हैं’। उनका मानना है कि अव्यवस्था अनुभूति की ओर ले जाती है और यह विचार उनकी ट्रेनिंग और परफॉर्मेंस को आधार देगी। वह वहां के छात्रों को अपने अनूठे प्राण पेंट एप्रोच के माध्यम से बैले सिखाने के लिए एक मास्टरक्लास भी लेंगे।

वह कहते हैं, “बेतरतीबी से ही अनुभूति होती है। किसी के जीवन के हर हिस्से में अव्यवस्था और क्रम की स्वीकार्यता, अपने भीतर, अपने देश या घर या वृहद ब्रह्मांड की स्वीकार्यता। इसको पहचानना और स्वीकार करना ही होम है।” लोबो का पीस इस फाइव-पार्ट एसोसिएशन का तीसरा चरण है जिसे फरवरी में न्यूयॉर्क के फ्लशिंग टाउन हॉल में लाइव दिखाया जाएगा। एक कोरियोग्राफर के रूप में उन्होंने न सिर्फ मुल्कों बल्कि डांस और इसके इंटरप्रेटेशंस की भी सीमाओं को तोड़ा है। उन्होंने दक्षिण अफ्रीका, इजरायल, जर्मनी, ताइवान और अमेरिका में भारत का प्रतिनिधित्व किया है। भारत में उनका योगदान देश के दो टॉप डांस इंस्टीट्यूशंस, डांसवर्क्स एकेडमी और नवधारा इंडिया डांस थियेटर के रूप में प्रकट हुआ है।