प्रियंका की आत्मा में बसता है बिहार – डॉ मधु चोपड़ा

बॉलीवुड की अदाकारा प्रियंका चोपड़ा आज इंटरनेशनल स्टार के रूप में जानी जाती है । भारत सरकार ने भी उनके इन्ही उपलब्धियों के कारण पद्मश्री से सम्मानित किया । इस साल की शुरुवात में ही प्रियंका चोपड़ा ने अपनी फ़िल्म निर्माण कंपनी पर्पल पेबल पिक्चर्स के तले पांच फिल्मो के निर्माण की घोषणा की और सबसे आश्चर्य की बात यह रही की बतौर निर्माता उनकी पहली फ़िल्म भोजपुरी में बन रही है । बम बम बोल रहा है काशी नाम की इस फ़िल्म की शूटिंग गुजरात के वड़ोदरा में चल रही है । शूटिंग समाप्ति के आखिरी दिन प्रियंका चोपड़ा के हर पहलु को करीब से देखने वाली , उनकी हर संघर्ष की साक्षी , हर उपलब्धि की गवाह रही उनकी माँ व जानी मानी डॉक्टर मधु चोपड़ा सभी कलाकारों व तकनीशियनों का आभार प्रकट करने सेट पर पहुची । डॉ मधु चोपड़ा ने प्रियंका व फ़िल्म से जुड़े कई मुद्दों पर उदय भगत से विस्तृत बातचीत की । प्रस्तुत है कुछ अंश –
एक इंटरनेशनल स्टार की पहली फ़िल्म भोजपुरी में , कोई ख़ास वजह ?
हाँ बहुत बड़ी वजह है । प्रियंका का जन्म बिहार ( वर्तमान में झारखंड ) में हुआ , पहली बार स्कूल भी वो बिहार में ही गयी , मिस वर्ल्ड बनने के बाद सबसे पहले वो बिहार ही आई । यानि उनकी हर अच्छे काम की शुरुवात बिहार से ही हुई है । दरअसल प्रियंका को बिहार से काफी लगाव है इसीलिए जब उन्होंने फ़िल्म निर्माण की ओर कदम रखा तो उन्होंने फ़िल्म की शुरुवात बिहार की भाषा भोजपुरी से ही करने की सोची ।

फ़िल्म निर्माण एक टीम वर्क होता है । बम बम बोल रहा है काशी की टीम का चयन आपने कैसे किया ?
मैं इसका श्रेय फ़िल्म के एसोसिएट प्रोड्यूसर रवि शंकर जायसवाल को देती हूँ , उन्होंने ही एक एक कड़ी को जोड़ा । रवि शंकर जायसवाल ने ही लेखक निर्देशक संतोष मिश्रा , सुपर स्टार निरहुआ , आम्रपाली दुबे सहित सभी कलाकारों के नाम का सुझाव रखा । हमने उनके सुझाये हर नामो की जांच की तो पाया की हर नाम अपने अपने क्षेत्र में धुरंधर है ।

बम बम बोल रहा है काशी की टीम से आप कितना संतुष्ठ हैं ?
शत प्रतिशत , क्योंकि फ़िल्म की शूटिंग समाप्ति पर है लेकिन कहीं से कोई शिकायत का मौक़ा नहीं मिला । सौ से अधिक लोगो की यूनिट में सबको संतुष्ठ रखना और सबकी उम्मीदों को पुरा करना एक चुनौती होती है लेकिन हमें ख़ुशी है की ना यूनिट की ओर से हमें और ना प्रोडक्शन की ओर से उन्हें कोई शिकायत हुई । हमने अपनी कंपनी पर्पल पेबल पिक्चर्स के सभी कर्मचारियों के सहयोग से उनकी हर जरुरत पूरी की और यूनिट ने भी अपना बेस्ट दिया है । चाहे कलाकार हो , तकनीशियन हो या पब्लिसिटी से जुड़े लोग हो सबका काम सराहनीय है ।

प्रियंका चोपड़ा फ़िल्म के प्रोमोशन में कितना वक़्त देगी ?
प्रोमोशन का सारी जिम्मेदारी प्रियंका खुद उठाएगी । हालांकि वो बहुत व्यस्त है और इसी वजह से से वो अपनी फ़िल्म जय गंगाजल के प्रोमोशन में ही हिस्सा नहीं ले पायी , फिर भी उनकी कोशिश रहेगी की बम बम बोल रहा है काशी के प्रोमोशन जोर शोर से करे ताकि एक अच्छी टीम की अच्छी फ़िल्म को अधिक से अधिक लोग देख सकें ।