बिहार में सफलतापूर्वक चल रहा है ‘‘शहर मसीहा नहीं’’

राजन कुमार अभिनीत और ओंकार फिल्म एंड टेलीविजन प्रोडक्शन के बैनर तले निर्मित हिन्दी फिल्म ‘‘शहर मसीहा नहीं’’ बिहार के कई सिनेमाघरों में प्रदर्शित हुई। राजन कुमार के गृहनगर मुंगेर में तो इस फिल्म ने एक कीर्तिमान ही स्थापित किया है। विजय सिनेमा हाॅल में ‘‘शहर मसीहा नहीं’’ ने सफलतापूर्वक अपने पचास दिन पूरे कर लिये हैं। यह नवोदित कलाकार राजन कुमार के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। इस फिल्म के प्रथम शो में कई गणमान्य व्यक्ति भी पधारे, जिसमें बिहार के भूतपूर्व मुख्यमंत्री सतीश प्रसाद भी शामिल थे। यह फिल्म मुंगेर व आसपास के क्षेत्रों में फिल्मायी गयी है जिसे देखने के लिए स्थानीय दर्शकों की भीड़ उभरती गयी। सचमुच मुंगेर शहर को इतनी व्यापकता और खूबूसरती के साथ पहले कभी नहीं फिल्माया गया। यह फिल्म भी स्थानीय लेखक डाॅ. अरुणेन्द्र भारती के उपन्यास पर ही आधारित है। फिल्म के निर्माता राजन कुमार और निर्देशक अमर वत्स हैं। पटकथा अमर वत्स, गीत धीरज कुमार व डाॅ. भारती, संगीत प्रेखर वर्मा, नृत्य राजेश शरवाना पडवाले, मनोज एवं कला रेड्डी, सम्पादन संदीप मिश्रा, कला योगेश शिल्के, एक्शन टीनू वर्मा और छायांकन विश्वजीत दास का है। फिल्म के मुख्य कलाकार हैं-राजन कुमार, त्रिशा खान, पूनम कापरी, रिया भारती, आशा कापरी, श्रद्धा, आतिश कुमार सिन्हा, रीतेश धवन, कोमल, राजेश खन्ना, जीतेन्द्र यादव, मो. हासिम खान, इंदर उपाध्याय, योग गुरु स्वामी रंजन, बेबी चार्मी, बेबी कल्याणी और मा. राजवीर। ‘शहर मसीहा नहीं’ बिहार के एक ऐसे उद्यमी युवक की कहानी है, जो अपने गृह नगर से बाहर जाकर दिल्ली में सफलता का झंडा गाड़ता है। इसमें यह दिखाया गया है कि योग्यता ही सर्वोपरि होती है, कोई व्यक्ति या शहर मसीहा नहीं होता।