नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा देगी हिंदी फिल्म ‘युवा’ : Akshara Singh

भोजपुरी तो भोजपुरी अब हिंदी फिल्मों में भी धमाके को तैयार हैं भोजपुरी सनसनी अक्षरा सिंह। हालांकि वे पहले भी हिंदी फिल्मों में नज़र आ चुकी हैं, मगर अब वे शैलेश परासर निर्देशित फिल्म ‘युवा’ में भी मजबूत किरदार में नज़र आने वाली हैं, जिसको लेकर अक्षरा ने कहा कि यह फ़िल्म नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा देने वाली शानदार फ़िल्म है। इसमें बाल विवाह जैसी कुरीतियों पर भी गहरा चोट किया गया है। मेरे लिए यह फ़िल्म अहम है। बात हिंदी भोजपुरी से ज्यादा फ़िल्म के सब्जेक्ट की है, जो मुझे बेहद पसंद आई।

अक्षरा ने कहा कि मंजुश्री मोशन पिक्चर के बैनर तले निर्माणधीन हिन्दी फीचर फ़िल्म “युवा” संवेदना के पृषठभूमि पर आधारित है। शैलेश परासर द्वारा निर्देशित और छायांकन नरेश विश्वकर्मा के इस फिल्म का मुख्य आधार ” नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के साथ गरीबी से खुद को उपर उठाकर सफ़लता की मुकाम तक पहुंचाने की है। कैसे एक छोटे से गांव की लड़की फुटबॉल खेलकर अपने हुनर और जज़्बात को एक ऊंची उड़ान देती है। यही इस फ़िल्म का वन लाइनर है, जो दर्शकों को एंटरटेनमेंट के सार्थक संदेश भी देगी।

आपको बता दें कि हिंदी फ़िल्म युवा की निर्माता डॉ मंजू कुमारी हैं। इस फिल्म की मुख्य भूमिका में अभिनेत्री अक्षरा सिंह, श्वेता वर्मा, यशपाल शर्मा , कल्पना शर्मा, प्रमिला उप्रेति, शालू और मुंबई के चर्चित कलाकार मनोज मिश्रा,चेतन पंडित,अपर्णा मिश्रा ,विजय श्रीवास्तव और अन्य कलाकार हैं। पीआरओ रंजन सिन्हा हैं।